सावधान ..Bajaj finsev ..अब flexi loan पर्सनल लोन के नाम पर लूटपाट करने लगी है ......

जनता की खून पसीने की गाढ़ी कमाई के पैसे को जिस प्रकार से होली लगाने का काम ये बेंक कर रहे हैं और अपने सुनियोजित लूट का जो तांडव मचा रखा है इस सभी जनता को आगाह रहना चाहिए कि अब से यदि किसी के पास भी यदि इस प्रकार की कोई टेलीफोन कॉल या जानकारियां कोई पूछें तो उसके रिकॉर्डिंग करते हुए सर्वप्रथम इसकी सूचना पुलिस को जरूर दे दे । यह चीटिंग और सरासर 25 से ₹30000 लूटने का जो काम जो बैंक रेकेट बना कर रही है कभी इंश्योरेंस के नाम पर कभी सर्विसेज के नाम पर और भोले-भाले जरूरतमंद लोगों को जिस प्रकार से लूटने और उनकी सिविल को खराब करने का जो तंत्र मचा रखा है उस पर लगाम लगाए जाना बहुत आवश्यक है, वरना इससे देश में बैंकिंग व्यवस्था पर से लोगों का विश्वास उठ जाएगा और इस प्रकार की लुटेरों जैसे भ्रामक झूठ बोल कर के केवल अपना बिजनेस की तरफ ध्यान देने वाले जनता की गाढ़ी कमाई को लूट मार करने वाले लोगों पर कार्रवाई जरूर किया जाना चाहिए अन्यथा इस प्रकार के बेंक एक लूट तंत्र बनकर रह जाएंगे ।

सावधान ..Bajaj finsev ..अब  flexi  loan  पर्सनल लोन के नाम पर लूटपाट करने लगी है ......
बजाज फिन सर्व

t4unews:यूं तो इस दुनिया में कुछ भी चीज फ्री में नहीं आती परंतु आप  आजकल लोन बांटने के नाम पर बड़ी-बड़ी लोन बांटने वाली बैंकिंग कंपनियां भी आम ग्राहकों को सीधे-सीधे उल्लू बनाने  में लगी हुई है । वे  लोन लेने की प्रक्रिया को इतनी सहज और आसान बताते  हुई आप तक टेलीफोन कॉल करती है कि यदि आपको इमरजेंसी लोन या किसी भी प्रकार का पर्सनल लोन इत्यादि लेना है बिना गारंटी के बिना किसी ज्यादा लिखा पढ़ी के हेसल फ्री लेना हो तो हमसे  संपर्क कीजिए और मात्र 5 मिनट में अपने  कुछ डॉक्यूमेंट दिखाते हुए लोन आसानी से घर बैठे पाइए ऐसा वादा करती है  । इस प्रकार की चीजें आजकल बहुत  सारे बैंक  आजमाने लगे हैं इसी सिलसिले में बजाज फिन  सर्व  कि पूना और जबलपुर ब्रांच का नाम सर्वोपरि पर आ रहा है इनकी  अधिकारी कर्मचारी और टेलीकॉलर आम जनता एवं अच्छे खासे गवर्नमेंट कर्मचारियों को यह अपने ग्रुप में गियर में लेती हैं और सीधे फोन करती हैं कि सर यदि आप लोन लेना चाहेंगे , फ्लेक्सी लोन , पर्सनल लोन इत्यादि तो आपकी इनटाईटलमेंट लाखों रुपए की बन सकती है और हम आपको घर बैठे बिना गारंटर  के आपको लोन  दिला सकते हैं । जानकारी लेने और तफ्तीश करने पर पता चलता है और बेंक के ये दोगले कर्मचारी कहते  हैं कि इसमें हमारे पास कुछ भी हिडन चार्ज  क्षद्म  चार्ज नहीं है  जो भी कुछ लोन होगा वह सीधे-सीधे आपके खाते में चला जाएगा बस मात्र आपको कुछ अपने आधार कार्ड या कुछ आइडेंटिटी से संबंधित जानकारी बतानी है । और इस प्रकार की जानकारी बताते हुए इनके मन में तनिक भी इस बात का संकोच नहीं रहता इनकी बातें बकायदा रिकॉर्ड दोनों तरफ से भले हो रही हो पर सफेद झूठ बोलते हुये ये गलत जानकारियां कस्टमर को देते है और उनके फोन नंबर भी डिटेक्शन , डिस्प्ले में होता  है परंतु इन्हें मालूम है कि इनका फोन नंबर केवल वन डायरेक्शन का है दूसरे डायरेक्शन से नहीं लगता है इसलिये बिंदास कूट रचना करते है । आईबीआर  कॉलिंग के माध्यम से जनता को और बैंक के ग्राहकों को मूर्ख बनाते है  सीधे-सीधे शब्दों में इस बात को कमिट करने के बाद कि हम आपको कोई भी गलत  जानकारी नहीं दे रहे हैं आपको हम जैसा बता रहे हैं वैसा ही आपको लेंडिंग होगी या आपको वैसे ही लोन का अमाउंट आपके खाते में पहुंच जाएगा जिससे आपको फ्लेक्सी लोन के माफिक चाहे जैसा आप इस्तेमाल कर सकते हैं जब चाहे तब रिटर्न कर सकते हैं जितने समय आपने उसको उपयोग किया  है या करेंगे उसका आप ब्याज देते हुए इस लोन से मुक्ति भी पा सकते हैं । इस प्रकार की लोक लुभावनी चिकनी चुपड़ी बातें करते हुए यह सबसे पहले अपने नए नए ग्राहक को इस बात से कोई जानकारी नहीं देते कि इस लोगों को लेने की एवज में उन्हें अच्छी खासी महंगी इंश्योरेंस की पॉलिसी और एक डील में 20 से 25000 हजार कि चपत लगाते हुये अपनी  बीमा पॉलिसी बेचते है । और साथ ही साथ अनेक प्रकार के अन्य हिडेन चार्जेस जो इनके बैंक की सेवा शर्तों के अनुरूप होती हैं उसको लगाते हुए कम से कम रु 35 हजार से ₹40000 तक लोगों को आसानी से चूना लगा देते हैं जो कस्टमर को लोन  मिलने से पहले ही पक्के सूदखोर के  समान  कोई भी कोई भी लोन की राशि देने से पहले अर्थात ब्याज काटकर पैसा देने की जो बातें होती थी या जो पहले के सूदखोरों द्वारा अपनाई जाती थी वह आज कल की या बैंक खासकर बजाज फिन सर्विस कर रही है ।

इसी के तहत एक भुक्तभोगी अजय विश्वकर्मा ( परिवर्तित नाम )द्बारा हमारे प्रतिनिधि को बताया गया की जब श्री अजय को जब इस प्रकार की जानकारी मिली और फोन नंबर  7709029165  रीजनल मेनेजर से आये काल  पर  बताया गया कि सर आपका सिविल बहुत अच्छा है आप कृपया हमारे बैंक से लोन यदि चाहे तो ले सकते हैं । बेंक वालों के सेल्स टीम की सारी  लोक लुभावने वादें और सभी प्रकार के आश्वासन झूठे थे सभी रिकार्ड सुनवायी ।  उसकी  बताई बातों  में आते हुए जब अजय ने सारी औपचारिकता पूर्ण कर दी तो उसके बाद फिर बैंक वाले जानबूझकर किसी अच्छे खासे कस्टमर को डिफाल्टर बनाने के लिए उसके सेविंग एकाउंट में लोन कि राशि डाल कर बाद कि सेवाये  जैसे बजाज वालेट बना के देना या जानकारियां बताने के  बजाए ब्याज की रकम बढ़ाने और जानबूझ कर डिफाल्टर बनाने या सिबिल खराब करने या अन्य प्रकार की सही जानकारीया , अपनी उचित सेवा देना छोड़कर  कस्टमर को हंसी  का पात्र बनाते हुए कस्टमर को  कहते हैं कि क्या आपको इतना नहीं मालूम आप तो पढ़े-लिखे हो आपने खुश इस प्रकार कि कटौती को ऐड किया है ।

इस प्रकार की चीजें अधिकारियों के द्वारा पूर्ण कराई जाती हैं और कंफर्म करा जाता है कि जो भी दिया जा रहा है सब कुछ सही है मगर समझाने या किसी चीज के बारे में स्पष्टीकरण की बात आती है तो लोकल अधिकारी भी हाथ खड़े करते हुए कहते हैं हमें कुछ नहीं पता अपने जैसी जानकारी ईमेल के द्वारा ली है । यदि है टेलीफोन कॉल कर दी है इसका मतलब हैं कि जनता को मूर्ख बनाना ही है सीधे-सीधे आकर के जाल में फंसाने के बाद केवल लुटाई करने की बजाय सही तरीके से मदद की जाए तो इससे बैंक का नाम भी बढ़ेगा और सेवा में कमी भी साबित नहीं होगी । इस प्रकरण में जो नाम काल्पनिक रूप से रखा गया है जबकि वास्तविक नाम दूसरा है इनके पास तमाम टेलीफोन के रिकार्ड्स वगैरह सब कुछ अवेलेबल होने के बाद और जिस प्रकार से बैंक के कर्मचारियों द्वारा भ्रामक एवं गलत जानकारी देते हुए सामने वाले को सरासर ठगी डकैती रु 25 000 से ₹30000 की फटकी  देने का  जो काम किया जाता है वह निंदनीय है और बैंक की छवि को बहुत धक्का पहुंचाता है। 

इसे ऐसे समझे 

 यदि आपने लोन  रु 3 लाख का  लिया हो  तो आपको प्रोसेसिंग फी , flexi  फी , बीमा आदि जोड़ कर आपका लोन 3 लाख 10 हजार का बनाया जाएगा । जिसमे से रु 15000 कि राशि यानी ब्याज  पहले ही काट कर आपके खाते में रु 285000 जमा किया जाएगा और फिर उसमें इन्सुरेन्स की तगड़ी रकम जो 10 से 20 हजार तक हो सकती है को  अतिरिक्त जोड़ कर  रु 310000 बना करआगामी 5 साल के अवसर तक रखें जाने का दावा करते है । 

विशेष बात  यह भी है की बेंक के लोकल कर्मचारी इस संबन्ध में कोई सही जानकारी जैसे इस प्रक्रिया से कैसे बचा जाये या इसे कूल आफ समय में  कैसे  रद्द करवाया जाए के संबन्ध में कुछ भी नही बताते ।  इस प्रकार की  क्राइम को नहीं रोका गया तो ऐसी बैंकिंग कोई काम की नहीं जहां हर बात के लिए पैसे उल्टे लिए जाते हैं।  ग्राहकों को हर प्रकार की सेवा की चार्ज शुल्क सालाना इत्यादि प्रकार की सब वह चीज ली जाती है जिसके लिए  पहले बेंक द्बारा बताया जाता है की हमारे द्वारा भविष्य में ऐसा कोई भी चार्ज नहीं लिया जाएगा  पर होता बिल्कुल विपरीत है ।