साइंस से मेटल, कार्बन और इलेक्ट्रिक करंट वाले टॉपिक हटे, मैथ्स से ज्योमेट्री और अलजेब्रा से जुड़े टॉपिक भी कम हुए

CBSE ने नए सत्र के लिए अपने सिलेबस में 30% कटौती का ऐलान किया है। एकेडमिक सत्र 2020-21 के लिए 9वीं से 12वीं के कोर्स में लगभग एक-तिहाई कमी की गई है।NCERT और CBSE बोर्ड के विशेषज्ञों की एक कमेटी ने पाठ्यक्रम में कटौती का ड्राफ्ट तैयार किया था।...

साइंस से मेटल, कार्बन और इलेक्ट्रिक करंट वाले टॉपिक हटे, मैथ्स से ज्योमेट्री और अलजेब्रा से जुड़े टॉपिक भी कम हुए
गिर गाय का दूध कोरोना से बचाता है

CBSE ने नए सत्र के लिए अपने सिलेबस में 30% कटौती का ऐलान किया है। एकेडमिक सत्र 2020-21 के लिए 9वीं से 12वीं के कोर्स में लगभग एक-तिहाई कमी की गई है।

NCERT और CBSE बोर्ड के विशेषज्ञों की एक कमेटी ने पाठ्यक्रम में कटौती का ड्राफ्ट तैयार किया था। इसके बाद यह फैसला लिया गया। 8वीं तक की कक्षाओं के लिए CBSE ने स्कूलों को खुद सिलेबस तैयार करने की छूट दी है।

हालांकि, कई स्टूडेंट्स के लिए ये समझना थोड़ी मुश्किल हो रहा है कि किस कक्षा से किन-किन टॉपिक्स को सिलेबस से हटाया गया है।इस साल 10वीं कक्षा में प्रमोट होने जा रहे स्टूडेंट्स यहां आसान भाषा में समझ सकते हैं कि उन्हेंं कोन-से टॉपिक पढ़ने होंगे और कौन-से नहीं।

कंप्यूटर एप्लीकेशन- एनिमेशन से जुड़े टॉपिक्स को हटाया

थ्योरी और प्रैक्टिकल मिलाकर कुल 9 टॉपिक हटाए गए हैं। कॉर्डिनेट्स एंड कंडीशनल, एनिमेटेड इमेजेस, स्टोरी, सॉन्ग, स्प्रिट ऑफ बेसिक स्क्रैच, ड्रॉइंग विद इटरेशन जैसे टॉपिक इस साल स्टूडेंट्स को नहीं पढ़ने होंगे।

 

इंग्लिश में इस बार नहीं होंगे पैसिव वॉइस, प्रिपोजिशन और द फर्स्ट फ्लाइट

इंग्लिश में ग्रामर से चार और लिटरेचर से पांच टॉपिक हटाए गए हैं। ग्रामर में स्टूडेंट्स को नए सत्र में नाउन, एडवर्ब क्लॉजेस, प्रिपोजिशन, फर्स्ट फ्लाइट टॉपिक नहीं पढ़ने होंगे।

इंग्लिश के साहित्य वाले हिस्से से How to Tell Wild Animals, Trees. Fog. Mijbil the Otter. For Anne Gregory हट गए हैं।वहीं, The Midnight Visitor. A Question of Trust, The Book That Saved The Earth कहानियां भी सिलेबस में इस बार नहीं होंगी।

हिंदी ए- पांच कविताएं और चार कहानियां इस बार सिलेबस में नहीं होंगी

पांच कविताओं और चार कहानियों समेत हिंदी-ए के सिलेबस से कुल 11 पाठ नए सिलेबस सेहटा लिए गए हैं। गिरि राजकुमार माथुर की कविता- छाया मत छूना, मंगेश डबराल की संगतकार और जयशंकर प्रसाद की आत्मकथ्य भी नए सिलेबस में नहीं रहेगी।

महावीर प्रसाद द्विदेदी की कहानी- स्त्री शिक्षा के विरोधी कुतर्कों का खंडन, यतीन्द्र मिश्र की- नौबत खाने में इबादत को भी हटा लिया गया है।

 

हिंदी बी - रवींद्रनाथ ठाकुर और महादेवी वर्मा की कविताएं हटीं

कक्षा 10 में हिंदी बी के सिलेबस से व्याकरण, पद्द खंड और गद्ध खंड को मिलाकर कुल 9 पाठ हटाएगए हैं। व्याकरण में, अलंकार इस बार स्टूडेंट्स को नहीं पढ़ना होगा। वहीं रवींद्रनाथ ठाकुर की कविता 'आत्मत्राण' और महादेवी वर्मा की 'मधुर-मधुर मेरे दीपक जल' समेत कुल तीन कविताओं के अलावा बिहारी के दोहे भी इस बार सिलेबस में नहीं होंगे।

चार कहानियां 'डायरी का एक पन्ना' (सीताराम सेकसरिया), 'तीसरी कसम के शिल्पकार शैलेंद्र' ( प्रहलाद अग्रवाल), 'गिरगिट' ( अंतोन चेखव), 'पतझड़ में टूटी पत्तियां' ( रवींद्र केलकर) को भी हटा लिया गया है।

 

होम साइंस में इस बार फैमिली इनकम और रेडीमेड गारमेंट्स शामिल नहीं

होम साइंस के स्टूडेंट्स को 10वीं में अब तक फैमिली इनकम और रेडीमेंट गारमेंट्स के बारे में भी पढ़ाया जाता था। ये टॉपिक इस बार सिलेबस से हटा लिए गए हैं।

इसके अलावा प्रॉबलम्स ऑफ एडोलसेंट्स और कंज्यूमर एजुकेशन टॉपिक भी हटाए गए हैं। 10वीं में होम साइंस के सिलेबस से कुल चार टॉपिक हटे हैं।

 

मैथेमैटिक्स : ज्योमेट्री और अलजेब्रा के सबसे ज्यादा टॉपिक हटाए गए

10वीं के सिलेबस में मैथ्स से कुल 15 टॉपिक हटाए गए हैं। सबसे ज्यादा टॉपिक अलजेब्रा और ज्योमेट्री के हटे हैं। अलजेब्रा से स्टेटमेंट एंड सिम्पल प्रॉब्लम, क्रॉस मल्टीप्लीकेशन मैथड हट गए हैं। वहीं, ज्योमेट्री में कंस्ट्रक्शन ऑफ ट्राएंगल इस बार नहीं होंगे।

 

साइंस में सात प्रैक्टिकल्स और सात थ्योरी के टॉपिक नहीं पढ़ने होंगे

साइंस में थ्योरी के सात टॉपिक हटाए गए हैं। सात एक्सपेरिमेंट्स से जुड़े टॉपिक्ससे भी स्टूडेंट्स को राहत मिलेगी। इंटरनल असेसमेंट का भी एक टॉपिक हटा है।इस तरह 10वीं के साइंस के सिलेबस से कुल 15 टॉपिक हटे हैं।

थ्योरी में इस बार स्टूडेंट्स को मेटल एंड नॉन मेटल, कार्बन एंड इट्स कम्पाउंड्स, द ह्यूमन आई एंड द कलरफुल वर्ल्ड, मैगनेटिक इफेक्ट ऑफ इलेक्ट्रिक करंट नहीं पढ़ने होंगे।

वहीं, प्रैक्टिकल्स में एसिड से pH ढूंढने, लीफ पील बनाने और एसिटिक एसिड से जुड़े एक्सपेरिमेंट हटा दिए गए हैं। इंटरनल असेसमेंट से मैनेजमेंट ऑफ नैचुरल रिसोर्सेस नाम का टॉपिक भी इस बार सिलेबस में नहीं होगा।

 

 

 

सोशल साइंस - लोकतंत्र की चुनौतियां, आंदोलन, धर्म व जाति और वन्य जीवन वाले चैप्टर नहीं होंगे

10वीं कक्षा में सोशल साइंस के सिलेबस से आठ चैप्टर पूरी तरह हटा दिए गए हैं। ये टैप्टर अर्थशास्त्र, समाज, वैश्विकरणउद्योगीकरण, जल, वन्य जीवन, लोकतंत्र की चुनौतियां, धर्म व जाति पर आधारित थे। Livelihoods, Economies and Societies चैप्टर पीरियॉडिक टेस्ट में शामिल रहेगा। लेकिन, बोर्ड परीक्षाओं में इसे भी शामिल नहीं किया जाएगा।

source dainik bhaskar