जिले में मिले 22 नए कोरोना पॉजिटिव, पहले थे 24 बढ़कर हुए 46, सभी की ट्रैवल हिस्ट्री दूसरे प्रदेशों की

जिले के क्वारेंटाइन प्रवासियों में से 22 लोगों की रिपोर्ट गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव आई। सभी संक्रमित जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित विभिन्न क्वारेंटाइन सेंटरों पर पहले से ही रह रहे हैं। बताया जाता है कि उनकी ट्रैवल हिस्ट्री दूसरे प्रदेशों...

जिले के क्वारेंटाइन प्रवासियों में से 22 लोगों की रिपोर्ट गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव आई। सभी संक्रमित जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित विभिन्न क्वारेंटाइन सेंटरों पर पहले से ही रह रहे हैं। बताया जाता है कि उनकी ट्रैवल हिस्ट्री दूसरे प्रदेशों की है। नए मिले मरीजों में नगर परिषद क्षेत्र के इन्दाय पर मुहल्ले के एक, बरबीघा प्रखंड के तोयबीघा के एक, शेखोपुरसराय प्रखंड के बेलाव के दो, सदर प्रखंड नवादा-मनिऔरी के पांच, मेहूंस के दो, सदर प्रखंड के कटनीकोल के एक, जियनबीघा के तीन, सुदासपुर के एक, कैथवा के एक मरीज शामिल हैं।

सभी संक्रमित मरीजों को जखराज स्थान स्थित ऑफिसर भवन के क्वारेंटाइन सेंटर में लाया गया। इसकी विस्तृत जानकारी देते हुए डीपीएम श्याम कुमार निर्मल ने बताया कि सभी प्रवासी मुंबई, दिल्ली और सूरत से ट्रक और ट्रेन के माध्यम से शेखपुरा आये थे। नए सभी 09 मरीजों को विभिन्न प्रखंडों में स्थित स्वास्थ्य विभाग के क्वारेंटाइन सेंटर से जखराज स्थान स्थित ऑफिसर भवन में बने आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट करने की तैयारी की जा रही है। जहां सभी का इलाज किया जाएगा। जिले में नए 22 मरीजों को मिलाकर कुल मरीजों की संख्या 46 हो गई है।

क्वारेंटाइन सेंटर पर नहीं की गई है सुरक्षा बल की तैनाती: बहुआरा में पंचायत स्तर पर बने क्वारान्टीन सेंटर में किसी प्रकार की सुरक्षा बल को भी तैनात नहीं किया गया है। जिसके कारण क्वारान्टीन सेंटर में रह रहे प्रवासी आसानी से गांव का भ्रमण कर रहे हैं। प्रवासियों ने बताया कि जो नए प्रवासी आ रहे हैं वह क्वॉरेंटाइन सेंटर की स्थिति देखकर नहीं रहना चाहते है वहीं, सुरक्षा बलों की तैनाती नहीं रहने के कारण मौका पाकर अपने-अपने घर चले जा रहे हैं। जिससे गांव में भी संक्रमण बढ़ने की पूरी संभावना बढ़ सकती है। इस क्वारान्टीन सेंटर पर मुंबई, हरियाणा व सूरत के प्रवासी निवास कर रहे है। उन्होंने कहा कि कभी कभार पुलिस आती है और 10 से 15 मिनट रूककर वापस लौट जाते है।
बरबीघा के तोयबीघा से मिले मरीज से जुड़ सकती है संक्रमण की नई चेन
जिले में मिले नए कोरोना पॉजिटिव में से एक बरबीघा प्रखंड के तोयबीघा का मरीज है। संक्रमित मरीज मुंबई से ट्रक के माध्यम से बरबीघा पहुंचा था जहां मेडिकल टीम के द्वारा जांच कर पुलिस प्रशासन के सहयोग से राज राजेश्वरी स्कूल में बने क्वारान्टीन सेंटर में आइसोलेट कर दिया गया। तत्पश्चात मेडिकल टीम के द्वारा संदिग्ध के आधार पर युवक का सैंपल लेकर जांच के लिए पटना भेजा गया। जिसके उपरांत क्वारान्टीन सेंटर से मरीज अधिकारी व सुरक्षाबलों को चकमा देकर भाग गया था।
वहीं, गुरुवार की सुबह मरीज का रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद आनन-फानन में अधिकारीयों एवं स्वास्थ्य कर्मियों की टीम उसका खोजबीन शुरू किया, लेकिन क्वॉरेंटाइनसेंटर में उक्त मरीज नहीं मिला। जिसके बाद बरबीघा पुलिस ने उक्त संक्रमित मरीज उसके गांव से हिरासत में लिया गया। जहां संक्रमित मरीज के साथ पुलिस की झड़प भी हुई। काफी मशक्कत के बाद संक्रमित मरीज को शेखपुरा के जखराज स्थान स्थित क्वारान्टीन सेंटर में आइसोलेट किया गया है। इस दौरान संक्रमित मरीज गांव के कई लोगों से मिल चूका है। जिससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल व्याप्त है जिससे संक्रमण की चेन जुड़ने की संभावना बन गए है।
बाजारों में बढ़ी भीड़, खरीदारी करने आये लोग दिखे बेपरवाह
कोरोना वायरस से बचाव को लेकर जिले में चौथा लॉक डाउन जारी है। इसको लेकर जिला प्रशासन के द्वारा कई विशेष निर्देश के साथ कई क्षेत्रों में छूट प्रदान की गई है। छूट मिलने के बाद गुरुवार को शहर के दल्लू चौक, कटरा चौक, चांदनी चौक, गिरिहिंडा चौक, बुधौली बाजार आदि जगहों पर भारी चहल-पहल देखी गई है। इसके साथ ही खरीदारी करने आए लोगों के बीच सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ती देखी गयी। वहीं, जिले में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है इसके बावजूद भी लोग कोरोना जैसे विश्वव्यापी महामारी से बेखबर है। यह लापरवही घातक है।