जाट धर्मशाला कोविड केयर सेंटर के कमरा नंबर 30 से कोरोना संक्रमित बंदी फरार

जाट धर्मशाला में स्थापित कोविड केयर सेंटर के कमरा नंबर-30 में ताला बंद कोरोना संक्रमित बंदी रोशनदान उखाड़कर वहां से कूदकर फरार हो गया। जब गार्द खाना देने पहुंची तो बंदी नहीं मिला। उसकी धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू किया लेकिन कहीं नहीं मिला।...

जाट धर्मशाला कोविड केयर सेंटर के कमरा नंबर 30 से कोरोना संक्रमित बंदी फरार

जाट धर्मशाला में स्थापित कोविड केयर सेंटर के कमरा नंबर-30 में ताला बंद कोरोना संक्रमित बंदी रोशनदान उखाड़कर वहां से कूदकर फरार हो गया। जब गार्द खाना देने पहुंची तो बंदी नहीं मिला। उसकी धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू किया लेकिन कहीं नहीं मिला। अर्बन एस्टेट चौकी इंचार्ज विनोद भी सूचना मिलने पर जांच के लिए मौके पर पहुंचे। इस मामले पर एसपी गंगाराम पूनिया ने संक्रमित बंदी की धरपकड़ के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

जानकारी के अनुसार हांसी की रामसिंह काॅलोनी वासी पवन पर चोरी के पांच-छह मुकदमे दर्ज हैं। हाल ही में मिलगेट थाना पुलिस ने चोरी के केस में गिरफ्तार किया था। कोविड टेस्ट करवाने के बाद यह सेंट्रल जेल वन में बंद था। बुधवार को इसके सहित तीन बंदी संक्रमित मिले थे, जिन्हें जाट धर्मशाला स्थित कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट कर दिया था। तीनों को अलग-अलग कमरे में बंद किया हुआ था, लेकिन किसी को हथकड़ी नहीं लगा रखी थी। बाहर से कमरे को ताला लगाकर गार्द भी धर्मशाला के गेट के पास जाकर बैठी हुई थी। शाम 4 बजे बंदियों को चाय पिलाई थी। इसके बाद देर शाम साढ़े 7 बजे रात का खाना देने के लिए गार्द ने कमरे का ताला खोला तो वह नहीं मिला।

कमरे के रोशनदान की लोहे की ग्रिल एक तरफ से उखड़ी हुई थी। यहां से निकलकर पिछली तरफ जाने के लिए बनी गैलरी से अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हुआ है, क्योंकि मेन गेट पर तीन सदस्यीय गार्द बैठी थी। अर्बन एस्टेट चौकी इंचार्ज विनोद ने बताया कि बंदी फरार होने की सूचना पर जांच की। रोशनदान की ग्रिल उखाड़कर फरार हुआ है। इसकी धरपकड़ के प्रयास जारी है। बता दें कि इससे पूर्व अग्रोहा कोविड केयर सेंटर की खिड़की से कूदकर 2 बंदी फरार हुए थे।

Source dainik bhaskar