सिक्किम की चन्द्रा सुब्बा का प्रोटोकॉल के तहत रीति-रिवाजों के साथ हुआ अंतिम संस्कार

सिक्किम की चन्द्रा सुब्बा का प्रोटोकॉल के तहत रीति-रिवाजों के साथ हुआ अंतिम संस्कार

t4unews:जबलपुर साउथ सिक्किम निवासी अठ्ठाईस साल की चन्द्रा सुब्बा का आज रविवार की दोपहर पूरे प्रोटोकॉल के साथ चौहानी श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया । कटनी जिला चिकित्सालय में इलाजरत चन्द्रा सुब्बा की गंभीर हालत के मद्देनजर उपचार के लिये आज सुबह मेडिकल कॉलेज जबलपुर लाते समय  मृत्यु हो गई थी। वे गुजरात से अपनी बहन विस्नेका सुब्बा के साथ ट्रेन से सिक्किम जा रही थीं । स्वास्थ्य खराब होने पर चन्द्रा को कटनी रेल्वे स्टेशन में उतारकर उन्हें जिला चिकित्सालय कटनी उपचार के लिए भेजा गया था, जहाँ से उन्हें मेडिकल कॉलेज जबलपुर रेफर किया गया था । मृत्यु के बाद मेडिकल कॉलेज में उनका कोरोना टेस्ट के लिये सेम्पल लिया गया तथा पूरे प्रोटोकॉल को अपनाते हुए बहन द्वारा बताये गये विधि-विधान से दोपहर को अंतिम संस्कार किया गया । सावधानी बतौर मृतका की बहन विस्नेका सुब्बा को मेडिकल कॉलेज में आइसोलेट किया गया है। चन्द्रा सुब्बा का अंतिम संस्कार मोक्ष मानव संस्था के अध्यक्ष आशीष ठाकुर एवं उनके साथी कार्यकर्त्ताओं द्वारा किया गया । इस अवसर पर जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम गोरखपुर आशीष पांडे मौजूद थे । श्री पांडे के मुताबिक अंतिम संस्कार के पूर्व मृतिका की बहन की सिक्किम में उसके परिजनों से बात भी कराई गई ।

एसडीएम गोरखपुर के द्वारा चन्द्रा सुब्बा का पूरे सम्मान और रीति रिवाजों के साथ अंतिम संस्कार कराने पर सिक्किम के मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव ने फोन पर उनसे चर्चा कर जिला प्रशासन के प्रति आभार व्यक्त किया है ।

 

कोरोना के संदिग्धों और संक्रमितों के क्वारेंटाइन हेतु अधिग्रहित संस्थानों के कर्मियों का प्रशिक्षण आज

t4unews:जबलपुर कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए संदिग्ध और संक्रमित व्यक्तियों को क्वारेंटाइन करने हेतु चिन्हित कर अधिग्रहित संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों को सोमवार 18 मई को प्रात: 11 बजे से मानस भवन प्रेक्षागृह में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

      उल्लेखनीय है कि कोरोना के संदिग्ध व संक्रमित व्यक्तियों को क्वारेंटाइन करने हेतु 55 होटल्स, हॉस्टल, धर्मशाला, विद्यालय, महाविद्यालय व संस्थाओं को अधिग्रहित किया गया है। इन संस्थाओं में लोगों को क्वारेंटाइन करने के पूर्व यहां कार्यरत कर्मचारियों को नोवल कोरोना वायरस के संबंध में प्रशिक्षण दिया जाएगा।