महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल - ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह

जबलपुर 06 सितंबर 2019 प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एवं जबलपुर जिले के प्रभारी मंत्री प्रियव्रत सिंह और शहरी विकास एवं आवास मंत्री जयवर्द्धन सिंह ने जबलपुर में मध्यप्रदेश एसोसियेएशन ऑफ वूमेन इंटरप्रिन्योर मावे द्वारा आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन महिला उद्यमिता एवं निर्यात प्रोत्साहन स्वीप 2019 का शुभारंभ किया।

महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल - ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह
महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल - ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह
महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल - ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह
महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल - ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह
महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल - ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह

महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल - ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह महिला स्वसहायता समूहों की आर्थिक मजबूती के अवसर बढ़ेंगे - शहरी विकास मंत्री जयवर्द्धन सिंह दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय महिला उद्यमिता एवं निर्यात प्रोत्साहन सम्मेलन उद्घाटित
1-T4UNEWS: जबलपुर 06 सितंबर 2019 प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एवं जबलपुर जिले के प्रभारी मंत्री प्रियव्रत सिंह और शहरी विकास एवं आवास मंत्री जयवर्द्धन सिंह ने जबलपुर में मध्यप्रदेश एसोसियेएशन ऑफ वूमेन इंटरप्रिन्योर मावे द्वारा आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन महिला उद्यमिता एवं निर्यात प्रोत्साहन स्वीप 2019 का शुभारंभ किया। इसमें 21 देशों और देश के विभिन्न प्रांतों से आईं महिला उद्यमी सम्मिलित हुईं।

महिला उद्यमियों के दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा कि मावे का यह आयोजन छोटी-बड़ी महिला उद्यमियों को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर आगे बढ़ने का अवसर देगा। जबलपुर से शुरू हुआ प्रयास महिला उद्यमियों को काफी आगे तक ले जाएगा। आर्थिक मंदी के दौर में महिला उद्यमियों का योगदान महत्वपूर्ण रहेगा। गृहणियों, छोटी महिला उद्यमियों को कम पूंजी निवेश के उद्यम स्थापित करने और स्वसहायता समूहों को आर्थिक गतिविधियां संचालित करने की प्रेरणा, मार्गदर्शन, प्रशिक्षण मिलेगा। उनके प्रयासों को गति मिलेगी। उद्यमिता के क्षेत्र में छोटे-छोटे प्रयास सफलता के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। जबलपुर में महिला उद्यमियों के कार्यालयों के लिए स्थान उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा। राज्य सरकार पूरी मदद देगी। प्रदेश सरकार महिलाओं द्वारा स्थापित उद्योगों, उनके छोटे उद्यमों, गृह उद्योगों को प्रोत्साहित करेगी। उन्होंने कहा कि यह
गर्व की बात है कि महिला उद्यमियों को संगठित करने और आगे बढ़ाने का मावे का प्रयास सराहनीय है। मावे को राज्य सरकार हर संभव मदद करेगी।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि महिलाओं के स्वसहायता समूह आर्थिक एवं सामाजिक विकास के लिए महत्वपूर्ण कड़ी है। स्वसहायता समूह गणवेश, मध्यान्ह भोजन, हैण्डीक्राफ्ट, आंगनबाड़ी आदि क्षेत्रों में अच्छा कार्य कर रहे हैं। इनको आर्गनाइज किया जाएगा। अवसर दिया जाएगा। स्वसहायता समूहों के लिए ग्लोबल विजन, प्रोत्साहन और नई तकनीक से जोड़ने की आवश्यकता है। इन आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए मावे की महिला उद्यमियों के प्रयासों से गति मिलेगी।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को बढ़ाने, उद्योगपतियों को आमंत्रित करने तथा औद्योगिक क्षेत्र में निवेश को बढ़ाने के लिए पूरा ध्यान दिया है। मध्यप्रदेश में पर्यटन, ग्रामीण और अनुसूचित जाति-जनजाति बहुल क्षेत्रों में हैण्डीक्राफ्ट के क्षेत्र में उद्यमिता विकास की व्यापक संभावनाएं हैं। उन्होंने मावे के इस आयोजन को महिला सशक्तिकरण के लिए महत्वपूर्ण कहा।

नगरीय विकास और आवास मंत्री जयवर्द्धन सिंह ने कहा कि इस सम्मेलन में 18 से अधिक देशों की महिला उद्यमियों ने हिस्सा लिया है। ये लघु उद्योग के माध्यम से आत्मनिर्भर हैं और अच्छा व्यवसाय कर रही हैं। इन सफल महिला उद्यमियों के साथ समन्वय स्थापित कर मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों और शहरों की महिलाओं के लिए लघु उद्योग स्थापना के अवसर पैदा किए जाएंगे। उन्हें स्वावलम्बी और आत्मनिर्भर बनाने का पूरा प्रयास राज्य सरकार का रहेगा।

शहरी विकास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्राथमिकता में है। ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं में शिक्षा, जागरूकता लाने और उन्हें स्वावलम्बी बनाने की चुनौती है। उन्होंने कहा कि समाज के समुचित संतुलित विकास के लिए महिला उद्यमिता को बढ़ाना आवश्यक है। अगर कोई संस्था महिलाओं को सेवा का अवसर देती है तो वह सोसायटी के विकास में अहम् भूमिका निभाने का दावा कर सकती है। शहरी विकास मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर महिला सशक्तिकरण के लिए विशेष योजनाओं और कार्यक्रमों का क्रियान्वयन किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि मावे के माध्यम से विभिन्न देशों की लघु उद्योगों की सफल महिला उद्यमियों के अनुभवों और व्यापार से मप्र के महिला स्वसहायता समूहों को जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि समय आ गया है कि जब हम ग्लोबल अर्थव्यवस्था से जुड़कर विकास का प्रयास करें। अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में स्वागत भाषण मावे की अध्यक्ष अर्चना भटनागर ने दिया। विधायक विनय सक्सेना ने कहा कि महिला उद्यमिता विकास के लिए राज्य सरकार कटिबद्ध है।

इस आयोजन से महिलाओं द्वारा स्थापित उद्यम को आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा। उनहोंने विदेश तथा देश से आई महिला उद्यमियों का स्वागत जबलपुर संस्कारधानी में किया। संभागायुक्त राजेश बहुगुणा ने 21 देशों की महिला उद्यमियों तथा देश की महिला उद्यमियों को शुभकामनाएं दी तथा सफलतापूर्वक आयोजन के लक्ष्य की प्राप्ति की कामना की। नगर निगम जबलपुर की महापौर डॉ स्वाति सदानंद गोडबोले ने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर मध्यप्रदेश शासन के प्रमुख सचिव मनु श्रीवास्तव, मालदीप द्वीप समूह की जेण्डर फैमिली और सोशल सर्विस मंत्री सिधाया शरीफ, वर्ल्ड ट्रेड आर्गेनाइजेशन के सीनियर डायरेक्टर शिशिर प्रियदर्शनी, इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ बिजनेश एंड प्रोफेशनल वूमेन के वर्ल्ड प्रेसीडेंट डॉ

आमनी आस्थोर, भारत सरकार के एडिशनल सेक्रेटरी एवं विकास आयुक्त, एमएसएमई राममोहन मिश्रा, कर्नाटक सरकार की मुख्य सचिव रत्ना प्रभा आस्ट्रेलिया के जेंडर एण्ड ट्रेड की सीनियर ग्लोबल कंसल्टेंट मेग जोन्स आदि अतिथियों ने विचार व्यक्त किए। मावे की प्रदर्शनी का अवलोकन ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह और शहरी विकास मंत्री जयवर्द्धन सिंह ने मावे द्वारा लगाई गई महिला उद्यमियों के उत्पादों की प्रदर्शनी का शुभारंभ करने के बाद अवलोकन किया। प्रदर्शनी में 90 स्टाल्स लगाए गए थे। ज्ञातव्य है कि इस अंतर्राष्ट्रीय महिला उद्यमियों के सम्मेलन से अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को प्रोत्साहन मिलेगा। जबलपुर सहित प्रदेश को सीधा लाभ मिलेगा। महिला उद्यमियों के लिए आगे बढ़ने का सफल मंच साबित होगा। महिला उद्यमियों के उत्पादों को निर्यात का अवसर मिलेगा।
 

जिले में अब तक 994.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज

2-T4UNEWS:जबलपुर 06 सितम्बर 2019 जिले में एक जून 2019 से 6 सितम्बर की प्रात: तक 994.4 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिले में स्थापित वर्षामापी केन्द्रों में आंकी गई वर्षा रिकार्ड के अनुसार एक जून से 6 सितम्बर तक जबलपुर केन्द्र पर सर्वाधिक 1292.2 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष इस अवधि तक जिले में 1011 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई थी। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक एक जून से आज दिनांक तक वर्षामापी केन्द्र जबलपुर में 1292.2 मिलीमीटर वास्तविक वर्षा दर्ज की गई है। इसी प्रकार पनागर में 747.1 मिलीमीटर, कुंडम में 922.2 मिलीमीटर, पाटन में 1264.7 मिलीमीटर, शहपुरा में 1151.1 मिलीमीटर, सिहोरा में 817 मिलीमीटर और मझौली वर्षामापी केन्द्र में 766.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

प्रदेश के सभी थाने सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट में शामिल : मंत्री श्री बच्चन राज्य सरकार ने पूरा किया एक और वचन 

3-T4UNEWS:जबलपुर, 06 सितंबर, 2019 गृह एवं जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने 12 नये थाने और 210 नये वरिष्ठ कार्यालयों को क्राइम एण्ड क्रिमिनल ट्रेकिंग सिस्टम (सीसीटीएनएस) में शामिल करने के आदेश दिये है। इसके बादमध्यप्रदेश इस सिस्टम की स्थापना में भारत सरकार द्वारा जारी प्रगति मापदंडों के क्रियान्वयन में अग्रणी राज्यों में शमिल हो गया है। साथ ही राज्य सरकार द्वारा वचन-पत्र में दिया गया एक और वचन भी पूरा हो गया है।

पुलिस मुख्यालय में राज्य अपराध अभिलेख ब्यूरो में सिस्टम का तकनीकी संचालन किया जायेगा। सीसीटीएनएस कमाण्ड एण्ड कंट्रोल रूम स्थापित कर प्रदेश के 1061 पुलिस स्टेशन एवं 638 वरिष्ठ कार्यालयों की एकीकृत मॉनीटरिंग शुरू कर दी गई है। सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट के लाभ प्रोजेक्ट से प्रदेश के सभी अपराधियों की जानकारी सभी थानों को तत्काल उपलब्ध होगी। इलेक्ट्रॉनिक अभिलेख संधारण किया जा सकेगा।

विभिन्न रजिस्टर एवं रिपोर्ट सॉफ्टवेयर से तैयार होगी। थानों की कार्यवाही का सतत् एवं सघन पर्यवेक्षण संभव हो सकेगा। गिरफ्तार अपराधियों एवं बरामद सम्पत्ति की सूचना सभी थानों में तत्काल प्रसारित होगी। चरित्र सत्यपान प्रदेश स्तर पर संभव हो सकेगा। अपराधियों का इतिहास और प्रवृत्ति की जानकारी प्रदेश स्तर पर उपलब्ध रहेगी। विभिन्न राज्यों से अपराधियों की सूचनाओं का आदान-प्रदान संभव होगा।