बिजली उपभोक्ता अधिकार आंदोलन की चेतावनी -सौरभ नाटी शर्मा

बिजली उपभोक्ता अधिकार आंदोलन की चेतावनी -सौरभ नाटी शर्मा

t4unews:कोविड-19 के  प्रकोप से आज तक बचने के लिए बहुत प्रयास जारी है । 20 लाख करोड़ के पैकेज के बाद भी अभी तक विशेष रूप से  90 हजार करोड़ कर्ज माफी और इंफ्रा के नाम  डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों को प्राप्त होने वाले हैं  उसमें आम उपभोक्ताओं को सीधे तौर पर जो लाभ दिखना चाहिए वह लोगों की समझ से परे है ।  इन हालातों के बीच मध्य प्रदेश के सियासी समीकरण जो बहुत तेजी से दलबदल के कारण  पैदा हुए और मौजूदा कॉंग्रेस सरकार की गिरने और दूसरे बीजेपी  सरकार के उठने की कहानी बनी  हैं वहीं  यह बिजली मुद्दा केजरीवाल की तरह  किसी और नए नेता के उदय होने की कहानी भी गर्भ में गढ़  रहा है।  शासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए इसे बेवजह तूल नहीं देना चाहिए वरना इस  कोविड-19 की भीषण गर्मी से सूखे हुए जंगल में विद्रोह की  एक चिंगारी  भी आग  बन कर पूरे जंगल को जलाने का  काम कर सकता है और उनके जनाधार को वितरित कर सकता है । जो अभी आगामी आने वाले उप चुनाव के पूर्व तैयार हो रहा  है ।  इशारा बिजली बिल की ओर है जिसमें कांग्रेश अब आमूलचूल  मुद्दा बनाकर के इसी जहां अपना दीव्यास्त्र जरूर  बनाएगी । शासन को इस ओर ध्यान देना बहुत आवश्यक है कि जब सब जगह राहत मिली है कि बिजली के बिलों में भी कुछ राहत जरूर जनता को,  उद्योग पतियों को,  मिडिल वर्ग के लोगों को और साथ-साथ उन सभी लोगों को प्रदाय करने की कोशिश करनी चाहिए,  अन्यथा कही यह दावानल न बन जाए।  सोशल मीडिया में प्रचारित प्रसारित इस प्रकार के संदेश की बिजली बिलों से संबंधित किसी भी समस्या के लिए कांग्रेस का साथ दें और इसके लिए नए-नए जननेताओ  का जो उदय हो रहा है यह प्रशासन के लिए साथ ही साथ सत्तारूढ़ पार्टी के लिए गले की हड्डी ना बन जाए इस ओर भी ध्यान देना बहुत जरूरी है । इसे यदि हल्के में लिया गया तो क्या पता यह सुनामी का रूप धारण करते हुए एक नए नेता नए हीरो का उदय कराएगी।  प्रस्तुत व्हाट्सएप लेख में इस प्रकार की जो जन जागरण  वायरल हो रहे हैं जिसके माध्यम से लोगों के अंदर बिजली बिलों का आक्रोश  दिख रहा है उसे हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए प्रस्तुत है वायरल हो रहे हैं इस संदेश की एक जानकारी

सम्मानीय बिजली उपभोक्ताओं,
जैसा कि आपको पता है लॉकडाउन की अवधि में सबकी आर्थिक स्थिति चरमरा गई है , चाहे गरीब वर्ग हो, चाहे मध्यम वर्ग हो या ऊंचे तपके का वर्ग हो कोई भी आर्थिक गतिविधियों में संलग्न नही रहा , जिसके चलते सबकी जीविका पर विपरीत असर पड़ा है, इस बीच सरकार के द्वारा जारी किए गए लॉकडाउन के सभी नियम कानूनों को हमने माना एवं उसका पालन किया , अब समय है कि सरकार हम - आपके साथ खड़ी हो , आपको ज्ञात हो कांग्रेस पार्टी ने "बिजली उपभोक्ता अधिकार आंदोलन" के माध्यम से इस प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से लॉकडाउन के पीरियड के सभी वर्गों (घरेलू,कमर्शियल,एच.टी मीटर) के बिजली बिलो को जबलपुर सहित समूचे प्रदेश में माफी की माँग की है ।


आपके लिऐ ..पूर्णतः देशी ....स्वदेशी ..निःशुल्क ..जुडिये और लाभ ही लाभ ...

यह मांग कई राज्य पूरी भी कर रहे है , मध्य प्रदेश में इस ओर कही कुछ हो नही रहा है । इसी दौरान बिजली विभाग की गुंडा गर्दी भी शुरू हो गयी है , लोगो को आतंकित करके अनाब - शनाब बिल भेजे जा रहे है , कांग्रेस की सरकार के समय 100 यूनिट का बिल 100 रुपय ,150 यूनिट का बिल 384 रुपय की जो योजना प्रारंभ की थी , उसको भी तार - तार किया जा रहा है।जिनके बिल सैंकड़ों में आते थे आज उनको हजारो के बिल थोपें जा रहे है।

अगर आप भी बिजली विभाग की प्रताड़ना से प्रताड़ित है तो हमारे द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नम्बर पर किसी भी समय आप कॉल कर सकते है। कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता आपकी समस्याओं के लिए सजकता से खड़ा हुआ है।

आपका - सौरभ नाटी शर्मा

हेल्पलाइन नंबर - 9589131119,9589134448